आंवला से करें Diabetes को नियंत्रित


डायबेटीज आजकल दुनिया में सबसे आम बीमारियों में से एक है। यह मुख्य रूप से तब होती है जब खून में बहुत अधिक शर्करा होती है और इंसुलिन का उत्पादन अपर्याप्त होता है, या शरीर की कोशिकाएं इंसुलिन के प्रति ठीक से प्रतिक्रिया नहीं करती हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, मधुमेह को ठीक नहीं किया जा सकता है, लेकिन स्वस्थ आहार, व्यायाम और शारीरिक गतिविधियों और एक फिट और सक्रिय जीवनशैली अपनाकर इसे अच्छी तरह से प्रबंधित किया जा सकता है। अधिकांश स्वास्थ्य विशेषज्ञ अक्सर मधुमेह रोगियों को अपने शुगर लेवल को नियंत्रित करने के लिए अपने आहार में आंवले को शामिल करने का सुझाव देते हैं। आंवला अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले गुणों के लिए जाना जाता है और यह मधुमेह के लिए भी एक बेहतरीन उपाय है। आइए आज इस बात पर नजर डालते हैं कि मधुमेह के रोगियों में रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए आंवला को एक बेहतरीन घरेलू उपचार क्यों माना जाता है।

  1. हाइपोग्लाइसेमिक गुण:

आंवला हाइपोग्लाइसेमिक गुणों से भरपूर है, जो रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है, जिससे यह टाइप 1 और टाइप 2 मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद होता है।

  1. एंटीऑक्सीडेंट गुण:

आंवले में विटामिन सी जैसे एंटीऑक्सीडेंट उच्च मात्रा में पाए जाते हैं, जो अग्न्याशय में कोशिकाओं को ऑक्सीडेटिव तनाव और क्षति से बचाने में मदद करते हैं। यह इंसुलिन उत्पादन और संवेदनशीलता में भी सुधार करता है, जिससे मधुमेह रोगियों को मदद मिलती है।

  1. मेटाबॉलिज्म बढ़ाता है:

आंवला स्वस्थ चयापचय में मदद करके ग्लूकोज का उचित उपयोग सुनिश्चित करता है। इससे रक्त में शर्करा के अत्यधिक भंडारण से बचा जा सकता है, जिससे रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखने में मदद मिलती है।

  1. हृदय स्वास्थ्य:

अध्ययनों के अनुसार, आंवला खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है और हृदय रोग के खतरे को कम करता है।

रक्त शर्करा के स्तर को प्रबंधित करने के लिए आंवले का उपयोग कैसे करें?

  1. ताजे आंवले को टुकड़ों में काटकर चुटकी भर नमक या मिर्च पाउडर के साथ खाया जा सकता है.
  2. आंवले के रस को पानी के साथ पीसकर उसमें एक चम्मच शहद मिलाकर भी ले सकते हैं।
  3. भोजन करने के बाद एक कच्चा आँवला भी खा सकते हैं।
  4. आंवले को सुखाकर, पीसकर, स्मूदी, दही या अन्य खाद्य पदार्थों में भी मिलाया जा सकता है।
  5. आंवले का मुरब्बा एक लोकप्रिय व्यंजन है जो भारतीय घरों में व्यापक रूप से तैयार किया जाता है।

आंवले का सेवन करने से पहले किसी को डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए, क्योंकि दोनों दवाओं और आंवले का एक साथ सेवन करने से रक्त शर्करा का स्तर काफी कम हो सकता है।

Leave a comment