साउथ मुंबई के प्राइम प्रोजेक्ट के लिए ट्रिबेका के साथ आया एचडीएफसी कैपिटल

  • परेल में स्थित है 2.5 एकड़ का यह प्रोजेक्ट, इसमें 400 से अधिक आवास होंगे, जिसका कुल
    बिक्री मूल्य 1,800 करोड़ रुपये है
  • सरकार की क्लस्टर रिडेवलपमेंट पॉलिसी के तहत विकसित होने वाले दक्षिण मुंबई के सबसे
    बड़े प्रोजेक्ट्स में से एक

  • मुंबई, 10 जनवरी, 2024: भारत के सबसे बड़े लक्जरी ब्रांडेड रेसिडेंशियल डेवलपर और दुनिया में ट्रम्प ब्रांडेड
    प्रोजेक्ट्स के सबसे बड़े डेवलपर ट्रिबेका डेवलपर्स ने दक्षिण मुंबई के परेल में एक आवासीय परियोजना
    (रेसिडेंशियल प्रोजेक्ट) विकसित करने के लिए तेजुकाया समूह के साथ एक समझौता किया है।
    एचडीएफसी कैपिटल 200 करोड़ रुपये के फाइनेंस के साथ इस परियोजना का समर्थन कर रही है।
    यह मुंबई में ट्रिबेका का पहला प्रोजेक्ट है और ट्रिबेका ने एचडीएफसी कैपिटल से 500 करोड़ रुपये के
    रेसिडेंशियल हाउसिंग प्लेटफॉर्म के तहत दूसरा निवेश हासिल किया गया है, जिसकी घोषणा दोनों संगठनों
    ने 2019 में की थी। (इस साल की शुरुआत में, एचडीएफसी कैपिटल ने इस प्लेटफॉर्म से 135 करोड़ रुपये
    रुपये पहला सफलतापूर्वक निवेश किया था)
    2.5 एकड़ का यह प्रोजेक्ट दक्षिण मुंबई के प्रमुख परेल इलाके में स्थित है और इसमें 400 से अधिक
    लक्जरी आवास होंगे, जिनका कुल बिक्री मूल्य 1,800 करोड़ रुपये है। एक पैन-इंडिया डेवलपर के रूप में
    ट्रिबेका अपने प्रतिष्ठित डेवलपमेंट्स के लिए जाना जाता है जैसे कि गुरुग्राम और कोलकाता में ट्रम्प
    टावर्स, पुणे में द आर्क, जो दुनिया का सबसे बड़ा रूफटॉप कहा जाता है, और ट्रिबेका हाईस्ट्रीट, जो पुणे का
    सबसे बड़ा हाई-स्ट्रीट रिटेल डेवलपमेंट है।
    इस प्रोजेक्ट भूमि का स्वामित्व 90 वर्षों से अधिक समय से तेजुकाया परिवार के पास है और इसे मुंबई
    की महत्वाकांक्षी क्लस्टर रिडेवलपमेंट पॉलिसी के तहत मंजूरी मिल गई है।

  • ट्रिबेका के फाउंडर, श्री कल्पेश मेहता ने इसे मील का पत्थर बताते हुए कहा, “ट्रिबेका प्रतिष्ठित प्रोजेक्ट्स
    पर काम करने के लिए जाना जाता है। हम ट्रम्प टावर्स का निर्माण करते हैं, जो ग्लोबल लक्जरी जीवन
    में अग्रणी हैं। इसके चलते पूरे भारत में हमारे प्रोजेक्ट्स हमेशा बाजार में प्रीमियम पर बिकते हैं। देश भर
Kalpesh Mehta Founder Tribeca 1

में 10 वर्षों तक ऐतिहासिक प्रोजेक्ट्स डेवलप करने के बाद, मैं रोमांचित हूँ कि ट्रिबेका अंततः अपने घर –
मुंबई आ रही है।
यह प्रोजेक्ट उन दुर्लभ अवसरों में से एक है जहां शहर की सबसे अच्छी साइटें शानदार पार्टनर्स और
मजबूत बाजार स्थितियों के साथ आती है, जो हमें वास्तव में कुछ शानदार बनाने की अनुमति देती हैं।
ऐसा नहीं है कि सिर्फ कुछ चुनिंदा लोगों के ट्रॉफी होम बनाने के लिये इस प्रोजेक्ट में बारीकियों को छोड़
दिया गया और खर्चों को बचा लिया गया, बल्कि यह प्रोजेक्ट शहर के लिये एक लैंडमार्क है।
तेजुकाया समूह के जरिये हमें मुंबई और पूरे भारत में प्रतिष्ठित इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स बनाने की 135
साल की त्रुटिहीन विरासत वाला एक भागीदार मिला है। एचडीएफसी सबसे अच्छे फाइनेंशियल पार्टनर्स में
से एक है जिस पर भारत में कोई भी डेवलपर उम्मीद कर सकता है, और हम इस दूसरी डील को लेकर
एचडीएफसी कैपिटल के साथ अपने रिश्ते को मजबूत करने के लिए रोमांचित हैं।
अपने विचार साझा करते हुए, तेजुकाया समूह के सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर, श्री प्रणव पी. तेजुकाया
ने कहा: “इस भूमि पर एक ग्लोबल लैंडमार्क बनाना हमेशा से मेरा सपना रहा है, जो 90 वर्षों से अधिक
समय से हमारे परिवार के पास है। उस लक्ष्य को हासिल करने के लिए ट्रम्प टावर्स के मेकर्स ट्रिबेका और
एचडीएफसी कैपिटल के साथ गठजोड़ करने से बेहतर और क्या हो सकता है? बुनियादी ढांचे के विकास
में हमारे स्थापित ट्रैक रिकॉर्ड और रियल एस्टेट क्षेत्र में हमारी बढ़ती उपस्थिति के साथ और असाधारण
प्रोडक्ट्स को डिलीवर करने में ट्रिबेका का दक्षता के साथ सहयोग कर हम मुंबई को एक यादगार प्रोजेक्ट
देने के प्रति आश्वस्त हैं।”

Leave a comment